कोरोना पर एक सवाल –

कितनी लाशे जल गई – और कितनी ही जलनि बाकि है।
तुम गरीबी मिटाने आए थे , पर लगता है ये जैसे गरीबो को ही मिटाने की तयारी है।

हम ये नहीं कह रहे की , सरकार कोशिश नहीं कर रही है , पर क्या उनकी ये कोशिशे सही दिशा में है।

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक बार फिर से newindiavoice.com पर।

दोस्तों आज का ब्लॉग बहुत ही खास है , आज हम पूछने जा रहे है कोरोना पे एक अहम सवाल –

मुझे परेशानी नहीं , किसी की ज़िन्दगी से , पर हा जिन लोगो की जाने जा रही है , मोत हो रही है , उनके बारे में जान कर ,मेरी आत्मा चैन से सो नहीं पा रही है।

दोस्तों एक सवाल जो मन को विचलित कर देता है , वो यहे की ऐसा कोनसा इलाज है जिससे –
डॉक्टर्स ने ऐसा कहा की –

Kanika Kapoor tests positive for Covid-19 for the fifth time, doctor says there is no reason to worry

कनिका कपूर का टेस्ट 5 वी बार भी पोसोटीवे , पर डरने की कोई बात नहीं !

दोस्तों कनिका कपूर ठीक हो गई हमे इस बात की ख़ुशी है पर , क्यों आज अस्पताल में भर्ती करवाया हुआ व्यक्ति , अगले ही दिन अस्पताल प्रशासन द्वारा उसे मरा हुआ बता दिया जाता है , कुछ केसेस में तो लोगो के बॉडी पार्ट्स भी निकल कर अस्पताल प्रशसान द्वारा बेच दिए जाते है।

क्या ये संभव है की बिना किसी सहायता के एक अकेला डॉक्टर किसी व्यक्ति के बॉडी पार्ट्स निकाल ले ?

क्यों हर बार गरीब आदमी ही बलि का बकरा बनता है ?

जवाब है – की वो बेचारा आवाज नहीं उठा सकता ना , और आवाज उठा भी लेगा तो उसकी मदद कोण करेगा। मदद कर भी देगा तो मदद करने वाला कोनसा तीस मार खान होगा । जाहिर है दोस्तों गरीब था इसलिए अस्पताल वालो ने डॉक्टर को निकाल के पला झाड़ लिए , कोई MLA . MP , CM – या Buisness man होता तो अस्पताल ही बंद हो जाता।.

और हा मेरे देश का ला जवाब मीडिया – उनको तो टेबल के ऊपर चढ़ के हाथ जोड़ कर प्रणाम।
ये TRP के भूखे न्यूज़ छापते है – क्या आपको पता है मलिका शेरावत का Boyfriend कोण है ?

सफली खान के बेटे का नाम रखा तैमूर।

एक बात बताओ इस न्यूज़ से देश का क्या भला हो जाएगा , इस तरह की थारी – म्हारी किसी कॉलोनी की अंटिया भी नहीं करती।

कोरोना – कोरोना कर के पूरा देश तो आपने बंद कर दिआ । अपनी तरफ से आपने ना लाइट का बिल माफ़ किआ , ना पानी का बिल माफ़ किआ , ना ही ब्याज माफ़ किआ , ना ही कोई सहायता राशि दी -देश में कालाबाजारी जोरो शोरो से चल रही है , पर सरकार आराम से लॉक डाउन लगाने में व्यस्त है। कोई सवाल करो तो जवाब आता है , आप सरकार तक अपनी बात पहुचाए ताकि कला बाजारी पर रोक लगे।

बचे – बचे को पता है , हालात बाजार के। वो बात अलग है की आप ाखा वाले अंधे बने फिर रहे है।

गरीब कोरोना से नही भी मरा ना साहेब तो , भूख और शर्मिंदगी से मर जाएगा। उसका मरना तो तय है ,

आज देश में सरकारी कर्मचारी के अलावा शायद ही कोई चैन से सास ले पा रहा होगा। क्योकि उन्हें वेतन मिल रहा है, लेकिन आम आदमी का क्या – –

,मुझे तो यही लगता है की ,

ये गरीबी मिटाने की कम और गरीबो को मिटाने की कोशिश ज्यादा है।

दोस्तों आपको मेरा ब्लॉग पसंद आए तो , आप सभी से विनती है की आप इसे ज्य्दा से ज्यादा शेयर करे
धन्यवाद।

expr:data-identifier='data:post.id' expression inside the first "span" element:

10 Replies to “कोरोना पर एक सवाल –”

    1. Thanks For Showing Your Interest In Our Blog ,
      We Are so happy that you just spend your precious time to our blog .
      Regards
      newindiavoice.com

    1. Thanks For Showing Your Interest In Our Blog ,
      We Are so happy that you just spend your precious time to our blog .
      Regards
      newindiavoice.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.